अभिनव बिंद्रा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
यह लेख आज का आलेख के लिए निर्वाचित हुआ है। अधिक जानकारी हेतु क्लिक करें।
अभिनव बिंद्रा

बीजिंग ओलम्पिक २००८ में एयर राइफल स्पर्धा के स्वर्ण पदक विजेता भारत के अभिनव बिन्द्रा
जन्म 28 सितम्बर 1982 (1982-09-28) (आयु 31)[1].
देहरादून, उत्तराखंड
निवास ज़िरकपुर, पंजाब
राष्ट्रीयता भारतीय
अन्य नाम AB[तथ्य वांछित]
नस्ल पंजाबी
नागरिकता भारतीय
शिक्षा बी बी ए (BBA)
अल्मा मेटर कोलोराडो विश्वविद्यालय
व्यवसाय खिलाड़ी (तीरंदाजी)
कद १७३ से.मी.
वजन 65.5 किग्रा (144 पाउन्ड)
मण्डल सदस्य़ अभिनव फ्यूचरिस्टिक्स
माता - पिता अपजीत बिंद्रा
बबली बिंद्रा
पदक रिकॉर्ड
Flag of India.svg भारत के प्रत्याशी
पुरुष तीरंदाजी
ऑलंपिक खेल
स्वर्ण Flag of चीनी जनवादी गणराज्य२००८ बीजिंग पुरुष तीरंदाजी
आई एस एस एफ़ वर्ल्ड पुरुष तीरंदाजी प्रतियोगिता
स्वर्ण Flag of क्रोएशिया२००६ ज़गरेब १० मीटर हवाई राइफल पुरुष प्रतियोगिता
राष्ट्रमंडल खेल
स्वर्ण Flag of the United Kingdom२००२ राष्ट्रमंडल खेल, मैन्चेस्टर १० मीटर हवाई राइफल पुरुष
रजत Flag of the United Kingdom२००२ मैन्चेस्टर पुरुष १० मी हवाई राइफल एकल
स्वर्ण Flag of ऑस्ट्रेलिया२००६ मेलबर्न पुरुष १० मी हवाई राइफल
स्वर्ण Flag of Scotland.svg स्कॉटलैंड २०१४ ग्लासगो पुरुष १० मी हवाई राइफल
कांस्य Flag of ऑस्ट्रेलिया२००६ मेलबर्न पुरुष १० मी हवाई राइफल एकल

अभिनव बिंद्रा १० मीटर एयर रायफल स्पर्धा में भारत के एक प्रमुख निशानेबाज हैं। वे ११ अगस्त २००८ को बीजिंग ओलंपिक खेलों की व्यक्तिगत स्पर्धा में स्‍वर्ण पदक जीतकर व्‍यक्तिगत स्‍वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। क्वालीफाइंग मुकाबले में ५९६ अंक हासिल करने के बाद बिंद्रा ने जबर्दस्त मानसिक एकाग्रता का परिचय दिया और अंतिम दौर में १०४.५ का स्कोर किया। उन्होंने कुल ७००.५ अंकों के साथ स्वर्ण पर निशाना साधने में कामयाबी हासिल की। बिंद्रा ने क्वालीफाइंग मुकाबले में चौथा स्थान हासिल किया था, जबकि उनके प्रतियोगी गगन नारंग बहुत करीबी अंतर से फाइनल में पहुंच पाने से वंचित रह गए। वे नौवें स्थान पर रहे थे। पच्‍चीस वर्षीय अभिनव बिंद्रा एयर राफल निशानेबाजी में वर्ष २००६ में विश्व चैम्पियन भी रह चुके हैं।

संक्षिप्त परिचय

२८ सितंबर १९८३[1] को देहरादून में जन्मे अभिनव १९९८ के राष्ट्रमंडलीय खेलों के सबसे युवा निशानेबाज थे। एमबीए कर चुके अभिनव फ्यूचरिस्टिक कम्पनी के सीईओ हैं। सम्प्रति वे चंडीगढ में रहते हैं।

  • अभिनव बिंद्रा ने १५ साल की उम्र से निशानेबाजी करना प्रारंभ किया था।
  • २००० में अभिनव सिडनी ओलिम्पिक के सबसे युवा निशानेबाज बने थे, लेकिन अनुभव के लिहाज से यह उनका पहला ओलिम्पिक था।
  • २००१ के म्यूनिख कप में उन्होंने काँस्य पदक जीता। इसी साल मैनचेस्टर में वे १० मीटर एयर राइफल का स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब रहे।
  • २००४ में एथेंस ओलिम्पिक में अभिनव ने रिकॉर्ड तो कायम किया, लेकिन पदक जीतने से चूक गए।
  • २००८ के बीजिंग ओलिम्पिक में बिंद्रा का निशाना सीधे सोने के पदक पर लगा।
  • २०१४ राष्ट्रमण्डल खेल में अभिनव ने स्वर्ण पदक जीता।[2]

अभिनव बिंद्रा को सन २००९ में भारत सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये पंजाब राज्य से हैं।[3][4]

सन्दर्भ

  1. एथलीट जीवनी: अभिनव बिंद्रा बीजिंग २००८ ओलंपिक्स का आधिकारिक जालस्थल
  2. "कॉमनवेल्थ गेम्स: अभिनव बिंद्रा ने भारत को दिलाया तीसरा गोल्ड मेडल". पत्रिका समाचार समूह. २६ जुलाई २०१४. http://www.patrika.com/news/commonwealth-games-2014-malaika-goel-wins-silver-in-10m-air-pistol/1019886. अभिगमन तिथि: २६ जुलाई २०१४. 
  3. "Dhoni, Bindra and Aishwarya among Padma awardees [धोनी, बिन्द्रा और ऐश्वर्या पद्म पुरस्कारों में]" (अंग्रेज़ी में). टाइम्स ऑफ़ इण्डिया. २५ जनवरी २००९. http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2009-01-25/india/28028343_1_padma-awardees-padma-shri-padma-bhushan. अभिगमन तिथि: ८ दिसम्बर २०१३. 
  4. "List of Padma awardees 2009 [२००९ में पद्म पुरस्कार पाने वालों की सूची]" (अंग्रेज़ी में). द हिन्दू. २६ जनवरी २००९. http://www.hindu.com/2009/01/26/stories/2009012658391100.htm. अभिगमन तिथि: ८ दिसम्बर २०१३.