अपाची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कुछ अपाची लोगों के चेहरे
एक अपाची दुल्हन

अपाची या अपाचे (अंग्रेज़ी: Apache) उत्तर अमेरिका की एक मूल अमेरिकी आदिवासी जनजाति है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका के दक्षिण-पश्चिमी भाग में रहते हैं और कुछ आथाबास्काई भाषाएँ बोलते हैं। इनका वास क्षेत्र पूर्वी ऐरिज़ोना, उत्तरपश्चिमी मेक्सिको, नया मेक्सिको, टेक्सास और इनके इर्द-गिर्द के कुछ भागों में था। ऐतिहासिक नज़रिए से इनके क़बीले बहुत शक्तिशाली थे और लम्बे अरसे तक इन्होने मेक्सिको और अमेरिका में बसने वाले यूरोपियाई मूल के लोगों के साथ डट के मुक़ाबला किया। अपाची दस्तों ने मेक्सिको में स्पेनी ठिकानो पर १७वी सदी के अंत में छापे मारे और १९वी सदी में अमेरिकी सेना ने उन्हें चतुर और ख़ुंख़ार प्रतिद्वंदी पाया।[1] अपाचियों के पास एक नावाहो (Navajo) नाम की जाति भी रहती है जो संस्कृति और भाषा में अपाचियों से मिलती-जुलती है, लेकिन इन्हें दो भिन्न समुदाय माना जाता है।

इतिहास[संपादित करें]

अपाची लोग आथाबास्काई भाषाएँ बोलते हैं, जो इस क्षेत्र के अलावा अलास्का और कनाडा में भी बोली जाती हैं। माना जाता है की लगभग १००० ईसवी में अपाचियों के पूर्वज अपने दक्षिण-पश्चिमी वास क्षेत्र में दाख़िल हुए। वे बंजारों की ज़िन्दगी बसर करते हुए जगह से जगह जाते रहते थे। इस वजह से उन्होंने बहुत कम निवास-स्थानों का निर्माण किया जिस से उनके इतिहास के बारे में खोजबीन करना भी कठिन हो गया है। अप्रैल १५४१ में स्पेनी खोजयात्री फ़्रांसिस्को कोरोनादो इनके इलाक़े में पहुंचा और उसने इनके बारे में कहा के:

"सत्रह दिनों की यात्रा के बाद मैं इन इंडियनों के एक ठिकाने पर पहुँचा जो जंगली भैसों (अमेरिकी बाइसन) का पीछा करते हैं। इन आदिवासियों को केरेचो कहा जाता है। यह ज़मीन पर खेती तो नहीं करते, लेकिन जिन भैसों को मारते हैं उनका कच्चा मांस खाते हैं और उनका ख़ून पीते हैं। वे इन भैसों की खाल के वस्त्र पहनते हैं और इस जगह के सारे लोग यही पहनते हैं और उन्होने इन खालों को सुखाकर और तेल लगाकर बढ़िया तम्बू बनाए हुए हैं, जिनमें वह रहते हैं और जिनको वे भैसों का पीछा करते हुए अपने साथ लेकर चलते हैं। उन्होंने ऐसे कुत्ते भी रखे हुए हैं जिनपर वे अपने तम्बू, खम्बे और अन्य वस्तुएँ लादकर ले जाते हैं।"[2]

धीरे-धीरे यहाँ पर बहुत से स्पेनी और मेक्सिकी लोग बस गए। अपाची और यह लोग एक-दूसरे पर हमले भी करते थे और आपस में व्यापर भी करते थे। संयुक्त राज्य अमेरिका ने १८४६ में मेक्सिको के साथ युद्ध लड़ा और वह अपाचियों के बहुत से क्षेत्र का मालिक बना गया। पहले तो अपाचियों और अमेरिकियों के बीच अधिकतर शान्ति रही, लेकिन कुछ समय बाद अपाची क्षेत्र के सांता रीता पहाड़ों में सोना निकला। इस से बहुत से अमेरिकी इस क्षेत्र में आये और अमेरिकी सेना और अपाचियों में बहुत सी झड़पें हुई। अमेरिकी सरकार ने अपाचियों को घेर कर एक सीमित अमेरिकी इंडियन आरक्षित क्षेत्र पर रखने की नीति बनाई। अमेरिकियों के साथ लड़ने वालों में जेरोनिमो (Geronimo, १८२९-१९०९) नाम का एक सरदार बहुत प्रसिद्ध है। अंत में अमेरिकी सेना ने अपाचियों को हरा दिया। बहुत मारे गए और आपचे संस्कृति को मारने के लिए बहुत से अपाची बच्चों को माँ-बाप से अलग करने अमेरिकी पाठशालाओं में रखा गया, जहाँ उन्हें अपनी भाषा बोलने या अपने धर्म का पालन करने पर सज़ा दी जाती थी।[3] बहुत से अपाची बच्चे अपनी मातृभाषा बिना सीखे बड़े हुए। आधुनिक काल में बहुत से अपाची अपनी पुरानी संस्कृति की रक्षा करने और अपाची भाषाओँ को जीवित रखने के प्रयास में जुटे हुए हैं।

धर्म[संपादित करें]

अपाची धर्म-कथाओं में तीन पात्रों का अक्सर वर्णन होता है। पहला जीवनदाता (Life Giver) है जिसने ब्रह्माण्ड की सृष्टि करी लेकिन उसके बाद उसका मानव जीवन में कोई विशेष हाथ नहीं था। अन्य दो जलपुत्र (Child of the Water) और शत्रुदमन (Killer of Enemies) हैं, जो मानवों के लिए हानिकारक दैत्यों और जीवों से लड़ते हैं।[4] उत्तर अमेरिका के इस भाग में एक लोमड़ी से मिलता-जुलता कायोटी (coyote) नाम का जानवर भी मिलता है जिसे अपाची कहानियों में एक चालाक पात्र की तरह दर्शाया गया है। अपाची समाज में कुछ लोग धर्म और चिकित्सा का ज्ञान रखते थे। यह वैद्य-पुजारी यह भी जानते थे के कौन सी स्थानीय औषधियों से किन मर्ज़ों का उपचार किया जा सकता है। अक्सर इसके गले में एक रज्जू लाकटका था जिसे इज़्ज़े-क्लोथ़ (izze-kloth) बोलते हैं और जिसकी तुलना हिन्दू जनेऊ से की गई है।[5]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Emma and Todd Uzzelly, "Apache Indians Defend Borderlands in the Southwest", El Paso Community College Local History Project.
  2. George Peter Hammond, Agapito Rey. "Narratives of the Coronado expedition, 1540-1542". AMS Press, 1940. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780404146696. http://books.google.com/books?id=LZYOAQAAMAAJ. "... and they have very well-constructed tents, made with tanned and greased cowhides, in which they live and which they take along as they follow the cattle. They have dogs which they load to carry their tents, poles, and belongings ..." 
  3. Veronica E. Velarde Tiller. "Culture and Customs of the Apache IndiansCulture and Customs of Native Peoples in America". ABC-CLIO, 2010. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780313364525. http://books.google.com/books?id=IomZDaHdZuYC. "... Apache children were punished for using their own language even at play ..." 
  4. Morris Edward Opler. "An Apache life-way: the economic, social, and religious institutions of the Chiricahua IndiansThe University of Chicago publications in anthropology. Ethnological seriesPublications in anthropology (University of Chicago): Ethnological series". U of Nebraska Press, 1941. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780803286108. http://books.google.com/books?id=JC3QD47hu24C. 
  5. John Gregory Bourke. "The medicine-men of the Apache, Volume 9, Part 2 of Annual report, United States Bureau of American Ethnology". Govt. Print. Off., 1892. http://books.google.com/books?id=K6cpAAAAYAAJ. "... There is probably no more mysterious or interesting portion of the religious or 'medicinal' equipment of the Apache Indian, whether he be medicine-man or simply a member of the laity ..."