अनोर्गैस्मिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Anorgasmia
वर्गीकरण व बाहरी संसाधन
आईसीडी-१० F52.3
आईसीडी- 302.73, 302.74
रोग डाटाबेस 23879
ई-मेडिसिन article/295376  article/295379

अनोर्गैस्मिया एक प्रकार का यौन रोग है जिसमें एक व्यक्ति, पर्याप्त उत्तेजना के साथ भी,सम्भोग सुख को प्राप्त नहीं कर पाता है। पुरुषों में हालत अक्सर हांक में देरी करने से संबंधित होती है। अनोर्गैस्मिया अक्सर यौन कुंठा भी पैदा कर सकती है। अनोर्गैस्मिया के लक्षण महिलाओं में अधिक हैं। पुरुषों में यह आम है तथा युवा पुरुषों में दुर्लभ है.

कभी कभी इस हालत को मनोरोग विकार के एक रूप में वर्गीकृत किया जाता है हालांकि,यह कुछ चिकित्सा समस्याओं का कारण भी हो सकती है जैसे मधुमेह न्युरोपटी, एकाधिक काठिन्य, जननांग विकृति, जननांग सर्जरी से जटिलताओं की समस्याओं, पैल्विक आघात (जैसे एक चढ़ाई फ्रेम की सलाखों से गिरने के कारण पैर फैलाकर बैठ जाना, या साइकिल या जिमनास्टिक किरण के कारण ),हार्मोनल असंतुलन, कुल गर्भाशयोच्छेदन, रीढ़ की हड्डी में चोट, मेरुरज्जु पुच्छ ya सुषुम्ना पुच्छ सिंड्रोम, गर्भाशय एम्बोलिसतिओन, बच्चे के जन्म आघात ( संदंश या चूषण के द्वारा योन भाग के फटने या किस्सी बड़े व खुले हुआ एपिसियोतोमी ) वल्वोदैनिया और हृदय तथा रक्त वाहिका संबंधी रोग.[1]

एक आम कारण अनोर्गास्मिया की परिस्थितियों का, दोनों महिलाओं और पुरुषों में जो है वो है, विरोधी तथा अवसाद का उपयोग, विशेष रूप से चयनात्मक सेरोटोनिन अवरोध करनेवाला है [selective serotonin reuptake inhibitors (SSRIs)]. post SSRI यौन रोग (pSSD) एक नाम है जो पुरानी इओत्रोजेनिक यौन रोग जो SSRI antidepressants के उपयोग के कारण हुए है उनकी जानकारी देता है हालांकि अनोर्गास्मिया के पक्ष प्रभाव की रिपोर्टिंग SSRIs द्वारा सटीक नहीं है, यह एक अनुमान है की १५-५० % इस प्रकार की दवाओं के उपयोगकर्ताओं इस से प्रभावित होते हैं.[कृपया उद्धरण जोड़ें] रासायन अमंतादिने को दिखाया गया SSRI अनोर्गास्मिया प्रेरित राहत देने के लिए पर सिर्फ कुछ व्यक्तियों में सब में नही.

अनोर्गास्मिया का एक कारण और है नशे की लत, विशेष रूप से हेरोइन.[2] दिलों की धड़कन विल्लिं स. बुर्रौघ्स इस योंन रोग का वर्णन अपने एक उपन्यास में भी किया है जिसका नाम है नेकिड लंच ( NAKED LUNCH ) और कुछ दुसरे अन्य उपन्यास में भी !

एक अनुमान क अनुसार १५% महिलायें संभोग सुख के साथ कठिनाइयों बताती है, और ये उनितेद स्टातेस की महिलाओ ने में से १०% ने कभी भी उत्तेजित नही किया है. कई महिलाएं हैं जो कामोत्तेजना में नियमित रूप से केवल ५०-७० % समय उत्तेजित करती है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

प्राथमिक अनोर्गास्मिया[संपादित करें]

प्राथमिक अनोर्गास्मिया एक शर्त है जहाँ एक व्यक्ति संभोग अनुभवी कभी नहीं किया hoga. यह सामान्य महिलाओं में अधिक आम है, हालांकि यह सामान्य उन पुरषों में भी हो सकती है जिनमे ग्लादिपुदेंदल अनैच्छिक ( bulbocavernosus ) की कमी हो [3]

इस प्रकार की हालत वाली महिलायें कभी कभी यौन उत्तेजना के एक अपेक्षाकृत कम स्तर को प्राप्त कर सकती है तथा सुखद रूप में संभोग या अन्य यौन गतिविधियों के बारे में सोच सकती है उनके संभोग असमर्थता के बावजूद. हो सकता है उनको अधिकांश इनाम ( मज़ा ) छूने,पकड़ने,चूमने,दुलारने,ध्यान देने और अनुमोदन में मिलता हो. हालांकि, जो महिलाएं नियमित रूप से यौन प्रतिक्रिया के उच्च स्तर को प्राप्त करती है बिना किसी ओर्गास्मिक रिहाई के तनाव के वो शायद निराशा का अनुभव महसूस करती हों. भावनात्मक चिड़चिड़ापन,थकावट, बेचैनी, और पैल्विक दर्द या एक भारी पैल्विक सनसनी संवहनी engorgement की वजह से हो सकता है.

अक्सर, हालांकि, वहाँ कोई स्पष्ट कारण नहीं है की संभोग नायाब क्यों है. बावजूद एक देखभाल होने के,कुशल साथी,पर्याप्त समय और गोपनीयता,और कोई चिकित्सा मुद्दों कर जो यौन संतुष्टि को प्रभावित करेगा,कुछ महिलाओं को संभोग करने में असमर्थ हैं. यह स्थिति अत्यंत निराशा भरी होती है क्योंकि कोई प्रत्यक्ष कारण के साथ,एक सुखद समाधान करने के लिए मुश्किल की खोज है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

कई लोग आजकल ये धुंडने में समर्थ है अनोर्गास्मिया से प्रभावी राहत एक भौतिक कारक के बावजूद; कंडीशनिंग के एक मानसिक प्रक्रिया जिसमे सम्मोहन एक सकारात्मक प्रभाव हो सकता है.[कृपया उद्धरण जोड़ें] प्राथमिक पुरुष अनोर्गास्मिया बहुत ही असामान्य है, और इसी कारण वश इसका बहुत कम अध्ययन किया गया है.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

माध्यमिक अनोर्गास्मिया[संपादित करें]

माध्यमिक अनोर्गास्मिया क्षमता की कमी है संभोग सुख करने के लिए.[संदिग्ध ] इसका कारण हो सकता है शराब,मंदी,शोक,श्रोणि सर्जरी (कुल गर्भाशय के रूप में) या घाव,कुछ दवाएँ,बीमारी,एस्ट्रोजन जुड़े अभाव के साथ रजोनिवृत्ति या एक घटना जो कि मरीज यौन मूल्य प्रणाली का उल्लंघन किया है.

माध्यमिक अनोर्गास्मिया परोसतातेक्टोमी[4] के दौर से जुजार रहे पुरुषों में ५०% के आस पास है ,और यह कट्टरपंथी परोसतातेक्टोमी में ८० % है [5] यह एक गंभीर प्रतिकूल परिणाम है क्योंकि कट्टरपंथी परोसतातेक्टोमेइएस आमतौर पर युवा पुरुषों को में पायी जाती है जिनकी अधिक से अधिक 10 साल और जीवित रहने की उम्मीद हैं. उम्र में और अधिक उन्नत, प्रोस्टेट उस व्यक्ति के शेष जीवनकाल के दौरान और अधिक विकसित करने के लिए की संभावना नहीं है.[1] उएह आमतौर पर प्राथमिक पेनाइएल क्षेत्र में चल रहे नसों,जो प्रोस्टेट ग्रंथि के पास पास होती है उनकी क्षति के कारण होता है. प्रोस्टेट को हटाये जाने से अक्सर शती पहुंचाते है यहां तक कि पूरी तरह से इन नसों को हटा,यौन प्रतिक्रिया को अनुचित मुश्किल भी बना देते है.[2]

इन नसों के अस्तित्व के कारण प्रोस्टेट में,सर्जनस सेक्स के पुनः असाइनमेंट ट्रांससेक्सुअल पुरुष से महिला रोगियों को प्रोस्टेट हटाने से बचाता है. ये नसों को छोड़ देता है कि तब नवगठित भगशेफ को बढ़ावा मिलेगा और संभावना कम हो जाती है की सर्जरी के बाद रोगी क्लितोरल उत्तेजना का जवाब नहीं होगा इसके अतिरिक्त,प्रोस्टेट को मरीज़ क अन्दर छोड़ कर सर्जन इसे स्थिर होने देता है नवगठित योनि की दीवार के पास,जो संभवतः उत्तेजना में वृद्धि हो सकती प्रक्रिया के बाद के समय में योनि संभोग.

स्थिति अनोर्गास्मिया[संपादित करें]

जो लोग कुछ स्थितियों में ओर्गास्मिक होते है हो सकता है दूसरों में नही हो. एक व्यक्ति को उत्तेजना का एक प्रकार से एक संभोग सुख हो सकता है किन्तु एक और से नहीं. या एक व्यक्ति एक साथी के साथ भी संभोग सुख प्राप्त कर सकता है किन्तु एक और नहीं,या कुछ परिस्थितियों में केवल एक या केवल एक निश्चित या फोरेप्लय के प्रकार की राशि के साथ एक संभोग सुख है. इन आम रूपों रेंज के भीतर कर रहे हैं सामान्य यौन अभिव्यक्ति और समस्याग्रस्त नहीं माना जाना चाहिए.

एक व्यक्ति जो स्थिति अनोर्गास्मिया अनुभव से परेशान है उसको प्रोत्साहित करना चाहिए अकेले और पता लगाने के लिए और अपने या अपने साथी के साथ उन कारकों को प्रभावित कर सकता है कि चाहे वो ओर्गास्मिक हो या न हो,ऐसी थकान के रूप में,भावुक चिंता,जब वह दबाव महसूस करे यों सम्बन्ध बनाने के लिए जब उनकी इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है,या एक साथी के यौन रोग. पेनिएल-योनि संभोग के दौरान महिला की स्थिति अनोर्गास्मिया अपेक्षाकृत सामान्य स्थिति में,कुछ सेक्स चिकित्सक की सलाह देते है कि जोड़ों पुस्तिका शामिल,या संभोग के दौरान थरथानेवाला उत्तेजना,महिला के ऊपर स्थिति का उपयोग कर के रूप में यह लिंग द्वारा भगशेफ का अधिक से अधिक उत्तेजना के लिए अनुमति दे सकता है या,स्म्फय्सिस पूबिस या दोनों, और इसे आंदोलन की औरत बेहतर नियंत्रण देता है.

यादृच्छिक अनोर्गास्मिया[संपादित करें]

कुछ लोगों ओर्गास्मिक रहे हैं, लेकिन हर पर्याप्त उदाहरणों में ऐसा नही होता क्या उचित या वांछनीय है की उनकी भावना को संतुष्ट. चिकित्सा मदद कर सकता है ऐसे लोगों की जांच करने में और उनकी यौन गतिविधि के संभोग सुख अपेक्षाओं को फिर से संगठित करना. कुछ लोगों के लिए, चिकित्सा सहायता कर सकते हैं क्षण भर के लोगों को और अधिक क्षण भर देने की शारीरिक प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित करने के साथ आराम से.

रोग की पहचान[संपादित करें]

अनोर्गास्मिया का प्रभावी इलाज उसके होने के कारणों पर निर्भर करता है. महिलाओं के मामले मनोवैज्ञानिक यौन आघात या अवरोध से पीड़ित में,मनोवैज्ञानिकयोन परामर्श उचित होगा और जीपी रेफरल के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता हो सकता है.

कोई स्पष्ट कारण के साथ मनोवैज्ञानिक अनोर्गास्मिया से पीड़ित महिलाओं को उनके जीपी द्वारा जांच की जा करने के लिए रोग के अभाव के लिए जाँच करने की आवश्यकता होगी. रक्त परीक्षण भी किया जाने की आवश्यकता होगी (पूर्ण रक्त गणना,जिगर समारोह,एअस्त्रदिअल/अस्त्रदिअल(oestradiol/estradiol),कुल टेस्टोस्टेरोन,SHBG,, FSH/LH,प्रोलैक्टिन,समारोह थायराइड,लिपिडs और उपवास रक्त शर्करा)मधुमेह जैसे अन्य शर्तों, ओवुलेशान की कमी के लिए जांच,कम थाइरोइड समारोह या हार्मोन असंतुलन.[1] इन परीक्षणों और एक महिला की माहवारी चक्र में समय के लिए सामान्य सीमा Berman एट अल में विस्तृत है. 2005.

उस समय उनको तो यौन चिकित्सा में एक विशेषज्ञ को भेजा जाना आवश्यक होगा. विशेषज्ञ हार्मोनल स्तर के लिए रोगियों को रक्त परिणामों की जाँच करेगा,थाइरोइड समारोह और मधुमेह,जननांग रक्त प्रवाह और जननांग सनसनी का मूल्यांकन,के रूप में अच्छी तरह से देने के एक स्नायविक काम हुआ डिग्री का निर्धारण करने के रूप में (यदि कोई हो) तंत्रिका क्षति के.

उपचार[संपादित करें]

बिलकुल उसी प्रकार जिस तरह पुरुषों में उच्छायी रोग के साथ,महिलाओं में यौन समारोह की कमी हार्मोनल पैच या गोलियों के साथ इलाज किया जा सकता है हार्मोनल असंतुलन सही,क्लितोरल वैक्यूम पंप उपकरणों के लिए और रक्त प्रवाह में सुधार दवा,यौन अरौसल और सनसनी.[1]

तंत्रिका क्षति के मामले में, अभी वर्तमान में जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय में मानव शरीर में क्षतिग्रस्त नसों को बनाने के लिए एंजाइम sialidase का उपयोग पर अनुसंधान चल रहा हैं. किए जा रहे है.[6] यह संभव है कि भविष्य में श्रोणि तंत्रिका नुकसान में इस तरह से इलाज किया जा सके.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • यौन रोग

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. महिलाओं के लिए केवल, संस्करण संशोधित: एक क्रांतिकारी गाइड आपके सेक्स जीवन के भूमि-पुनरुद्धार के लिए , बर्मन, जे बयूमिल्लेर , ई. और बर्मन एल द्वारा (2005), Owl Books,NY ISBN 978-0-8050-7883-1
  2. www.atforum.com/pdf/europad/HeroinAdd6-3.pdf
  3. [5] ^ ब्रिन्देले जी एस, जिल्लियन पी (1982) पुरुषों और महिलाओं को जो संभोग सुख नहीं है. मनश्चिकित्सा 140, 351-356 के ब्रिटिश जे
  4. Dunsmuir WD, Emberton M, Neal DE, on behalf of the steering group of the National Prostatectomy Audit. "There is significant sexual dissatisfaction following TURP". British Journal of Urology (77): 161A. 
  5. Koeman M, Van Driel MF, Weijmar Schultz WCM, Mensink HJA. "Orgasm after radical prostatectomy". British Journal of Urology (77): 861–864. 
  6. http://www.sci-info-pages.com/2006/07/re-growing-nerves-after-spinal-cord.html.
  • इस लेख के लिए मूल पाठ सार्वजनिक प्रभाव-क्षेत्र CDC पाठ से लिया है.
  • बर्मन, जे बयूमिल्लेर , ई. और बर्मन एल ((2005)महिलाओं के लिए केवल, संस्करण संशोधित: एक क्रांतिकारी गाइड आपके सेक्स जीवन के
भूमि-पुनरुद्धार के लिए , Owl Books,NY

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]