अजीतगढ़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अजीतगढ़
—  city  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य पंजाब
ज़िला अजीतगढ़
जनसंख्या १,२३,४८४ (२००१ के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 316 मीटर (1,037 फी॰)

Erioll world.svgनिर्देशांक: 30°47′N 76°41′E / 30.78°N 76.69°E / 30.78; 76.69 अजीतगढ़ (पंजाबी: ਮੋਹਾਲੀ, अंग्रेज़ी: Mohali) चंडीगढ़ के पड़ोस में एक शहर है, और भारत के राज्य पंजाब, का १८वाँ जिला है। इसका आधिकारिक नाम गुरु गोविंद सिंह के ज्येष्ठ पुत्र साहिबज़ादा अजीत सिंह की याद में (एस ए एस नगर) रखा गया है। अजीतगढ़, चंडीगढ़ और पंचकुला मिल कर चंडीगढ़ त्रिनगरी कहलाते हैं। यह पहले रूपनगर जिले का हिस्सा था, पर हाल के कुछ वर्षों में इसे अलग जिला बना दिया गया।

इतिहास[संपादित करें]

पंजाब के तीन हिस्से में विभाजन, और राज्य की राजधानी चंडीगढ़ के केंद्र शासित क्षेत्र बन जाने के बाद १९६६ के अंत में अजीतगढ़ की परिकल्पना की गई। आज अजीतगढ़ और चंडीगढ़ पड़ोसी इलाके हैं, बस पंजाब व चंडीगढ़ केंद्रशासित क्षेत्र की सीमा ही इन्हें अलग करती है। अजीतगढ़ (पूर्व नाम मोहाली)[1] की मूल परिकल्पना वास्तव में चंडीगढ़ के मार्गों और योजना की ही नकल है, इसके लिए अलग से कोई योजना नहीं बनाई गई। पहले विकास केवल फ़ेज़ सात तक था। फ़ेज़ ८ और आगे का विकास १९८० के दशक के अंत में शुरू हुआ, और फ़ेज़ ८ में १९९० के दशक के मध्य में इस शहर का अपना बस अड्डा बना। अजीतगढ़ की जनसंख्या दो लाख के आसपास है, जो कि चंडीगढ़ की जनसंख्या की १/५ है। इस क्षेत्र को कई बहिर्स्रोतीकरण सूचना तकनीक कंपनियाँ अपना रही हैं, ताकि इस नगर द्वारा प्रदत्त निवेश के अवसरों का वे लाभ उठा सकें।

अजीतगढ़ व पंचकुला (चंडीगढ़ के पूर्व में, हरियाणा में) चंडीगढ़ के दो उपग्रही नगर हैं। इन तीनों शहरों को चंडीगढ़ त्रिनगरी कहा जाता है।

स्थिति[संपादित करें]

अजीतगढ़ चंडीगढ़ के पश्चिम में है। यह लगभग चंडीगढ़ की ही विस्तार है। इसके उत्तर में रूपनगर जिला है। इसके दक्षिण में फ़तेहगढ़ साहिब और पटियाला हैं। शहर की तेज़ी से बढ़ोतरी होने की वजह से अजीतगढ़ चंडीगढ़ शहर में लगभग मिल ही गया है।

आसपास के कुछ स्थल हैं चंडीगढ़, पंचकुला, ज़ीरकपुर, पिंजौर, खरड़, कुराली, रोपड़, व मोरिंदा

मौसम[संपादित करें]

अजीतगढ़ में उप-उष्णकटिबंधीय महाद्वीपीय मानसूनी मौसम है जिसमें गर्मियों में गर्मी, सर्दियों में थोड़ी से ठंड, अमूमन वर्षा और तापमान में काफ़ी कमी-बेशी है ( -१ °से. से 44 °से)। सर्दियों में कबी कभी दिसंबर व जनवरी में पाला पड़ता है। औसत वार्षिक वर्षा ६१७ मिमी दर्ज की गई है। कभी कभी पश्चिम से इस शहर में सर्दियों में भी बारिश होती है।

औसत तापमान

ग्रीष्म: गर्मियों में तापमान ४४°से. तक जा सकता है। आमतौर पर तापमान 35°से. से ४२°से. के बीच रहता है। शरद: शरद ऋतु में तापमान ३६° से. तक जा सकता है। आमतौर पर तापमान १६° व २७° के बीच रहता है, न्यूनतम तापमान १३° से. के आसपास रहता है शीत: सर्दियों (नवंबर से फ़रवरी) में तापमान (अधिकतम) ७° से. से १५° से व (न्यूनतम) -२° से. से ५° से. के बीच रहता है। वसंत: वसंत में तापमान (अधिकतम) १६° से. व २५° से. और (न्यूनतम) ९° से. व १८° से. के बीच रहता है।

जनसंख्या[संपादित करें]

२००१ की भारतीय जनगणना के अनुसार,[2] अजीतगढ़ की जनसंक्या १,२३,२८४ थी। पुरुष ५३% ओर स्त्रियाँ 4७% थीं। अजीतगढ़ की साक्षरता दर ८३% है जो कि ५९.५% के राष्ट्रीय औसत से अधिक है। पुरुष साक्षरता ८५% है व स्त्री साक्षरता ८१% है। १०% जनसंख्या ६ वर्ष से कम आयु की है।

भाषाएँ[संपादित करें]

अजीतगढ़ में मुख्यतः पंजाबी बोली जाती है हिंदी और अंग्रेज़ी भी प्रचलित हैं।

नगर नियोजन[संपादित करें]

चंडीगढ़ को सेक्टरों में विभाजित करने की सफलता के बाद अजीतगढ़ में भी एक समान ८०० मी x १२०० मी के सेक्टर काटे गए। इन में से कई अभी पूरी तरह विकसित नहीं हुए हैं, जैसे कि सेक्टर ६२, जो कि भविष्य में नगर केंद्र के लिए रखा गया है। पीसीए स्टेडियम से नज़दीकी व चंडीगढ़ से यातायात संबंधी अच्छे जुड़ाव इसे केंद्र बनाने के लिए अत्युत्तम हैं।

हाल की मोहाली की महा योजना के तहत शहर ११४ सेक्टर तक खिंच गया है।

क्रिकेट[संपादित करें]

प्रकाशित पीसीए स्टेडियम

१९९२ में पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन (पीसीए ने एक अत्याधुनिक सुविधा बनाने की सोची जिसमें अभ्यास स्थली भी होगी - इसे अजीतगढ़ के एक दलदली इलाके में बनाने का फ़ैसला हुआ। पीसीए ने इस मैदान में काफ़ी निवेश किया, एक तरणताल, स्वास्थ्य क्लब, टेनिस कोर्ट, पुस्तकालय, भोजनालयमदिरालय औरबाहर और अंदर क्रिकेट अभ्यास के नेट इस योजना का हिस्सा थे।

सरकारी/पुडा की ज़मीन पीसीए को कौड़ियों के भाव आवंटित करने संबंधी विवाद अभी भी जारी है, क्योंकि यह सौदा तब तय हुआ था जब आईऍस बिंद्रा, पीसीए के आजीवन अध्यक्ष ही पंजाब सरकार के सेवारत आईएऍस अफ़सर के तौर पर शहरी विकास के सर्वेसर्वा भी थे।

पंजाब-आधारित राष्ट्रीय क्रिकेटर अजीतगढ़ में ही अभ्यास करते हैं, इनमें युवराज सिंह, हरभजन सिंह, दिनेश मोंगिया, और पंजाब क्रिकेट टीम शामिल हैं।

निगमों द्वारा निवेश[संपादित करें]

अजीतगढ़ में कई स्थानीय कंपनियाँ हैं जैसे कि पीटीऍल पंजाब ट्रैक्टर लिमिटेड, आईसीआई पेंट्सगोदरेज समूह, और अब बड़ी बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ भी यहाँ अपने पाँव जमा रही हैं।

चित्र:QuarkCity.png
क्वार्क, मोहाली

इन्फ़ोसिस, जो कि जाना माना आई टी सेवा प्रदाता है, का अजीतगढ़ में एक विकास केंद्र था, जो कि अब चंडीगढ़ टेक्नालाजी पार्क में है। बड़ी वैश्विक तकनीकी कंपनियाँ जैसे कि डेल, क्वार्क, फ़िलिप्स, सेबिज़ इन्फ़ोटेक, ऍससीऍल (सेमिकंडक्टर), और पनकॉम यहाँ आई हैं। डेन्वर-आधारित क्वार्क ने ५० करोड़ अमरीकी डॉलर की 46 एकड़ (1,90,000 मी2) क्वार्कसिटी अजीतगढ़ में बनाई है, जिसमें कि ३०% रिहाइशी इलाका है, और १०% दुकानें, चिकित्सालय, मनोरंजन व शैक्षणिक इलाके हैं। इसके जरिए २५,००० प्रत्यक्ष व १ लाख परोक्ष नौकरियाँ आने की संभावना है।

क्वार्कसिटी एक 51 एकड़ (2,10,000 मी2), बहु-प्रयोगीय विकास है जो कि विशेष आर्थिक क्षेत्र (ऍसईज़ी) है। क्वार्कसिटी पंजाब के अजीतगढ़ जिले में है और यह ली कोर्बुज़िए के आधुनिक शहर चंडीगढ़ की ही बढ़ोतरी है, जो कि भारत की राजधानी नई दिल्ली से २६५ किमी (१६६ मील) उत्तर में है।

जिला प्रशासन[संपादित करें]

रोचक स्थान[संपादित करें]

इस क्षेत्र में पर्यटकों के लिए रोचक स्थान इस प्रकार हैं -

ऐतिहासिक स्थल[संपादित करें]

शिक्षा[संपादित करें]

संस्थाएँ[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]