अंतरतारकीय माध्यम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
आयनीकृत हाइड्रोजन का फैलाव (जिसे खगोलज्ञ पुरातन खगोलीय शब्दावली अनुसार H II कहते हैं) जो पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध से विस्कन्सिन Hα मैपर (Haffner et al. 2003) से दिखाई देता है। यह अंतरतारकीय माध्यम स्वरूप फैला हुआ है।

अंतरखगोलीय माध्यम या अंतरतारकीय माध्यम हाइड्रोजन और हिलीयम के कणों का मिश्रण होता है जो अत्यंत कम घनत्व की स्थिती मे सारे ब्रह्मांड मे फैला हुआ रहता है। आयनीकृत हाइड्रोजन के फैलाव (जिसे खगोलज्ञ पुरातन खगोलीय शब्दावली अनुसार H II कहते हैं) का पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध से विस्कन्सिन Hα मैपर (Haffner et al. 2003) द्वारा लिया गया हुआ चित्र दिखाया गया है। यह अंतरतारकीय माध्यम स्वरूप फैला हुआ है।

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में "अंतरतारकीय" को "इन्टरस्टॅलर" (interstellar) और "अंतरतारकीय माध्यम" को "इन्टरस्टॅलर मीडयम" (interstellar medium) कहते हैं।

अंतरतारकीय पदार्थ[संपादित करें]

इस सारणी में मिलकी वे आकाशगंगा के अंतरखगोलीय पदार्थ के घटकों की सूची दी गई है।

Table 1: Components of the interstellar medium[1]
Component Fractional
Volume
Scale Height
(pc)
Temperature
(K)
Density
(atoms/cm³)
State of hydrogen Primary observational techniques
Molecular clouds < 1% 70 10—20 102—106 molecular Radio and infrared molecular emission and absorption lines
Cold Neutral Medium (CNM) 1—5% 100—300 50—100 20—50 neutral atomic H I 21 cm line absorption
Warm Neutral Medium (WNM) 10—20% 300—400 6000—10000 0.2—0.5 neutral atomic H I 21 cm line emission
Warm Ionized Medium (WIM) 20—50% 1000 8000 0.2—0.5 ionized emission and pulsar dispersion
H II regions < 1% 70 8000 102—104 ionized emission and pulsar dispersion
Coronal gas
Hot Ionized Medium (HIM)
30—70% 1000—3000 106—107 10−4—10−2 ionized
(metals also highly ionized)
X-ray emission; absorption lines of highly ionized metals, primarily in the ultraviolet

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Based on Table 1 of Ferriere (2001), with additional details from the text of the same paper.